किस साजिश के तहत डोंबिवली पूर्व की मनपा महिला प्रसूति गृह पिछले दस साल से बंद ?

 

कल्याण डोंबिवली महनगरपालिका का ५० से अधिक विस्तर वाला डोंबिवली पूर्व के सर्वेश हाल के पास स्थित महिला प्रसूति गृह पिछले दस साल से अधिक समय से बंद है।

उत्तर भारतीय महासंघ का समाज के लिए अभूतपूर्व योगदान: भगतसिंह कोश्यारी

आम नागरिक इसे कल्याण डोंबिवली मनपा प्रशासन और स्थानीय नेताओ द्वारा एक साजिश के तहत ये प्रसूति गृह को बंद किया जाना मानते है। और इसी मुद्दे को अब आम आदमी पार्टी कि स्थानीय इकाई ने जोर शोर से उठाने का निर्णय लिया है।

अग्रवाल समाज कल्याण ने नवबर्ष के अवसर पर कार्यक्रम।

ज्ञात हो कि पिछले १५ साल से अधिक समय से यहा से भाजपा विधायक रवींद्र चौहान डोंबिवली विधानसभा क्षेत्र कि प्रतिनिधित्व कर रहे है। रवींद्र चौहान राज्य सरकार के मंत्रिमंडल मे दूसरी बार मंत्री है। इनका डोंबिवली का कार्यालय बंद पड़े और खंडहर होती जा रही इस अस्पताल से कुछ सौ मीटर दूरी पर है।

रेल यात्रियों की शिकायतों को दबाने के लिए ही सक्रिय है रेल मंत्रालय का टि्वटर हैंडल @RailwaySeva

डोंबिवली से देश की संसद मे प्रतिनिधित्व करने वाले सांसद डा श्रीकांत शिंदे भी पेशे से डॉक्टर है। और राज्य के मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे के एकलौते पुत्र है।

यूपी सरकार की मंशा आर्थिक मजबूती, नौजवानों को रोजगार मिले: जायसवाल

जब भी संसदीय चुनाव आता है क्षेत्र के मतदाताओ को स्वास्थ संबंधी सभी सुविधा देने की बड़ी बड़ी डिंग्गे मारते है। लेकिन लगातार दूसरी वार चुनाव जीतते ही कल्याण डोंबिवली मनपा कि स्वास्थ संबंधी सुविधा देने का वादा भूल जाते है।

विधायक हितेंद्र ठाकुर की मनपा में स्थानीय और संविदा कर्मियों की भर्ती प्रक्रिया में वरीयता देने की मांग

डोंबिवली पूर्व के सर्वेश हॉल के पास ही स्थित कल्याण डोंबिवली मनपा का यह महिला प्रसूति गृह अस्पताल पिछले 10 वर्ष से अधिक समय से बंद पड़ गया है।

शिवसेना नेता अनिल परब के खिलाफ ED In Action

इस विषय पर समय-समय पर स्थानीय नागरिक के साथ विभिन्न राजनैतिक दलों के नेता भी इस अस्पताल को दोबारा शुरू करने की मांग करते रहते हैं।

पूर्णिमा टाकीज के चौराहे पर खुला गटर मौत को दे रहा निमंत्रण, बेपरवाह कल्याण मनपा

लेकिन अज्ञात कारणों से इस अस्पताल को शुरू करने में ना तो कल्याण मनपा प्रशासन दिलचस्पी रखते है, ना हि स्थानीय सांसद विधायक या अन्य दल के नेता।

उल्हासनगर मनपा द्वारा जल रिसाव रोकने करोड़ों खर्च, फिर भी रोजाना हज़ारों लीटर पानी बह रहा है गटर में।

उल्लेखनीय है कि इस महिला प्रसूति गृह से ना सिर्फ डोंबिवली पूर्व और पश्चिम शहर के नागरिक वल्कि ग्रामीण क्षेत्रों से महिला मरीज इस अस्पताल में निरंतर आते थे।

ठंडे बस्ते मे चली गई कल्याण स्टेशन के प्रतिक्षालय को उचित जगह स्थापित करने की योजना।

एक तरफ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार देश भर में आमजन को स्वास्थ संबंधी मूलभूत सुविधा देने के लिए करोड़ों अरबों रुपए खर्च कर जगह जगह नए नए अस्पताल खुलवाने, नागरिकों को बेहतर आरोग्य सुविधा देने के लिए निरंतर प्रयासरत है।

कल्याण मनपा पीने के पानी की जांच के लिए प्रयोगशाला स्थापित करेगी

वही कल्याण डोंबिवली के मोदी समर्थक सांसद विधायक यहां के सरकारी अस्पतालों को साजिश कर बंद करवाने के पीछे लगे है।

कल्याण स्टेशन पर पुलिस द्वारा अवैध रूप से बैगों की जाँच पड़ताल

 

6 thoughts on “किस साजिश के तहत डोंबिवली पूर्व की मनपा महिला प्रसूति गृह पिछले दस साल से बंद ?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *