ठंडे बस्ते मे चली गई कल्याण स्टेशन के प्रतिक्षालय को उचित जगह स्थापित करने की योजना।

मध्य रेलवे प्रशासन ने यात्रियों को सुविधा देने के नाम पर कल्याण रेलवे स्टेशन पर स्थित जरूरी कार्यालयो को आनन फानन मे अन्य जगह स्थानंतरित कर दिया है। प्रशासन ने इन कार्यालयों को स्थानांतरण के साथ इसकी जो वैकल्पिक व्यवस्था कि है वो यात्रीयो के लिए पूरी तरह से असुविधाजनक मानी जा रही है।

टिकट जांच कर्मचारीयों पर हमला रेल अधिकारियों की देन।

लेकिन यात्रियों के साथ अनेक रेलवे प्रवासी संगठनों के इन्ही समस्याओ पर लगातार शिकायत के बावजूद रेल अधिकारी लगातार इन शिकायत को नजरंदाज करते आए है। और अब रेलवे सूत्र ही बता रहे है कि प्रशासन ने कल्याण स्टेशन पर स्थानतारित किये गए अनेक प्रमुख कार्यालयों की जगह यात्रियों को सुविधाजनक वैकल्पिक व्यवस्था देने की लगातार मांग को ठंडे वस्ते मे डाल दिया है।

कल्याण जीआरपी के दो कांस्टेबल चरस के साथ गिरफ्तार

ज्ञात हो कि लगभग दो महीने पहले मध्य रेलवे प्रशासन ने कल्याण रेलवे स्टेशन के सुशोभिकरण और यात्रियों कि बढ़ती भीड़ को देखते हुए  प्लेटफॉर्म क्रमांक ५ पर स्थापित प्रतिक्षालय एवं खानपान गृह, एवं रेल सुरक्षा बल कार्यालय को स्थांनतरित कर दिया । और इसकी वैकल्पिक व्यवस्था के तहत इन कार्यालयो को प्लेटफॉर्म क्रमांक १ के बाहर आरक्षण कार्यालय के पीछे स्थानतारित कर दिया गया है। जिसका आम यात्रियों को बिलकुल भी फायदा होता नहीं दिख रहा।

रेलवे प्रशासन की भ्रष्ट नीति के कारण कल्याण स्टेशन पर खानपान गृह की वैकल्पिक व्यवस्था करने मे देरी

ज्ञात रहे विगत दिनो आनन फानन मे स्टेशन पर स्थित जरूरी कार्यालयो को यात्रियों को सुविधा देने के नाम पर आरक्षण कार्यालय के पीछे ऐसी जगह भेज दिया है। जहां रात के समय आदमी तो क्या जानवर भी जाना पसंद नही करेगा, यात्री उस जगह जाने मे अपने को असुरक्षित महसूस करते है खासकर अकेली महिला यात्री।

विना कोई उचित वैकल्पिक व्यवस्था के कल्याण रेलवे स्टेशन के नूतनिकरण से यात्री परेशान

इस समस्या पर शहर की विभिन्न समाजिक संस्थाओ एवं स्टेशन कंसलटेंट कमेटी के सदस्यों ने बार बार अधिकारियों को ध्यान दिलाया। ओर स्थानीय अधिकारियों ने इस समस्या को सम्बंधित वरिष्ठ अधिकारीयो तक पहूचाने का भी आशवासन दिया लेकिन उस समस्या का आज तक कोई हल नही निकला। और आज भी यात्रियों को उन्ही समस्याओ से गुजरना पड रहा है।

रेलवे पुलिस का कोंकण रेलवे पर तीन पुलिस स्टेशन बनाने का प्रस्ताव

लगता है कि रेलवे अधिकारियों ने इस समस्या की फाईल ठंडे बस्ते मे डाल दिया है। जैसे उन्हें यात्रियों को होने वाली परेशानियों से कोई मतलब नही है।

कल्याण स्टेशन पर पुलिस द्वारा अवैध रूप से बैगों की जाँच पड़ताल

One thought on “ठंडे बस्ते मे चली गई कल्याण स्टेशन के प्रतिक्षालय को उचित जगह स्थापित करने की योजना।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *