विश्वकर्मा समाज ने एकता के लिए पहल की, सांताक्रुज में लल्लूराम विश्वकर्मा का हुआ सत्कार

शीतला प्रसाद सरोज
मुंबई। सामाजिक संस्था विश्वकर्मा समिति, मुंबई ने सामाजिक एकता और भाईचारा की मजबूती के लिए ‘समाज जोड़ो अभियान’ की शुरुआत की। मकरसंक्रांति के अवसर पर विश्वकर्मा समाज की अग्रणी संस्था विश्वकर्मा समिति, मुंबई की ओर से सांताक्रुज स्थित विश्वकर्मा समिति, मुंबई सभागृह में ‘समाज जोड़ो अभियान’ की शुरूआत हुई, जिसमें मुंबई की विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।

यूपी सरकार की मंशा आर्थिक मजबूती, नौजवानों को रोजगार मिले: जायसवाल

विश्वकर्मा समिति, मुंबई टास्क टीम के सदस्य राजेंद्र विश्वकर्मा, सुनील राना, अधिवक्ता जेपी शर्मा की अगुवाई में आयोजित इस कार्यक्रम में वक्ताओं ने सामाजिक एकता की पहल का स्वागत किया। इस मौके पर विश्वकर्मा फॉउंडेशन के अध्यक्ष राकेश विश्वकर्मा ने कहा कि हमें अगर सामाजिक विकास की दिशा में जाना है तो सामाजिक एकता को आत्मसात करते हुए आगे बढ़ना होगा।

मध्य और पश्चिम रेलवे ट्रैक पर गत एक वर्ष मे ढाई हजार यात्रियों की मौत

विश्वकर्मा विकास समिति के संस्थापक सदस्य हरिश्चंद्र विश्वकर्मा ने कहा कि पूर्व में हमारी संस्था की ओर से ऐसे कई प्रयास किये गए थे, जिसकी लोगों ने काफी प्रशंसा की थी। कारपेंटर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष वशिष्ठ नारायण विश्वकर्मा ने कहा कि समय के साथ हमें आपसी कटुता भूलकर भाईचारा मजबूत बनाने के लिए मिलकर काम करने होंगे।

रेल यात्रियों की शिकायतों को दबाने के लिए ही सक्रिय है रेल मंत्रालय का टि्वटर हैंडल @RailwaySeva

विश्वकर्मा समिति मुंबई टास्क टीम के सदस्य राजेंद्र विश्वकर्मा ने कहा कि सामाजिक एकता के बिना हम सब आगे नहीं बढ़ नहीं सकते। विश्वकर्मा समिति समाज की धरोहर है, जो आने वाली पीढ़ी के लिए प्रेरणास्रोत बनेगी। सुनील राना ने कहा कि समाज में अपने समाज के उद्योग जगत से जुड़े लोगों का सम्मान होना चाहिए।

समाजसेवी सैय्यद मोहम्मद शमीम का सत्कार

संस्था को आगे बढ़ाने में ऐसे लोगों का महत्वपूर्ण योगदान रहता है। एड. जेपी शर्मा ने कहा कि विश्वकर्मा समिति, मुंबई में सभी विवाद खत्म हो चुके हैं। अब समाज के सभी घटकों को लेकर हमें आगे बढ़ना होगा। गौरतलब है कि कार्यक्रम में विश्वकर्मा समिति, मुंबई की स्थापना से संस्था की देख-रेख करने वाले पूर्व संयुक्त मंत्री लल्लूराम विश्वकर्मा को प्रभार मुक्त कर उन्हें सम्मानित किया गया।

अंधेरी में 5,000 करोड़ रुपये के श्रम अस्पताल को अडानी को देने की साजिश !: राजेश शर्मा

कार्यक्रम में संस्था के पूर्व पदाधिकारी मेवालाल विश्वकर्मा, धनराज शर्मा, रामनरेश विश्वकर्मा, दिनेश शर्मा, चंद्रिका प्रसाद विश्वकर्मा, लल्लूराम विश्वकर्मा, गंगाराम विश्वकर्मा, लल्लन विश्वकर्मा, रमेश शिवी, सुभाष विश्वकर्मा आदि ने भी संस्था के बाबत अपने विचार व्यक्त किए। इस अवसर पर बड़ी संख्या संस्था के कार्यकर्ता और पदाधिकारी उपस्थित थे।

मध्य और पश्चिम रेलवे ट्रैक पर गत एक वर्ष मे ढाई हजार यात्रियों की मौत

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *