Kalayan RTO पुलिस की मुहदेखी कारवाई

कल्याण आरटीओ पुलिस आजकल मुंहदेखा काम कर रही है और विभिन्न जगहों पर वाहन चेकिंग के समय ये लोग वाहन चालक का मुंह देखकर पकड़ते है और कारवाई करते है। यही नहीं, यातायात पुलिस की वाहन उठाने वाली टवोंइंग वैन भी गाड़ी पहचानकर या उसपर लिखे विभाग के नाम को देखकरकारवाई करनी है या नही ये निर्णय लेती है।

BharatMataKiJai नहीं बोलने बाले स्कूल संचालक को मानपाड़ा पुलिस प्रभारी बागड़े ने अपने स्टाइल मे समझाया

पता हो कि कल्याण रेलवे स्टेशन के सामने पुल निर्माण का काम शुरू है और भीड़ भाड़ बचाने के लिए वहां “नो पार्किंग” का बड़ा बोर्ड लगा दिया है, परंतु यहा पर सबसे ज्यादा अनाधिकृत पार्किंग होती है। इस पार्किंग में सबसे ज्यादा दुपहिया पुलिस कर्मियों की होती है और सरकारी विभाग के कर्मचारियों की होती है।

“साहेब मी गद्दार नाही” वाला बैनर KDMC ने हटाया

इन निजी गाडियों पर अनाधिकृत रूप से पुलिस, प्रेस, कडोमपा, कोर्ट स्टाफ, फायर, बीएमसी, टीएमसी आदि लिखे होते हैं। ऐसा देखकर यातायात पुलिस की टोइंग गाड़ी इन दुपहिओं वाहन को नहीं उठाती हैं। इसी तरह, यातायात विभाग के पास महात्मा फुले की मूर्ति के सामने भी सैकड़ों गाडियां पार्क की हुई रहती हैं।

Gang Rape in Train महिला को एसी कोच में दी सीट, फिर TTE ने साथी के साथ मिलकर किया रेप

जिसपर कल्याण RTO पुलिस कोई कारवाई नहीं करती है। लेकिन इन्ही गाड़ियों मे अगर कोई आम आदमी का और विना कोई स्टिकर लगे गाड़ी खड़ी रहती है तो उसे तुरंत उठा लिया जाता है। और कल्याण यातयात विभाग से ये कोई नहीं पूछ सकता ये भेदभाव क्यों ?

Century Chemical का वो “गायब” कामगार का सच

इसी तरह ये लोग गाडियों के कागजात चेक करते समय मुंह देखकर काम करते हैं। यदि किसी आम आदमी के वाहन के नंबर प्लेट खराब हो तो गाड़ी को पकड़ लिया जाता है। यदि गाड़ी का बीमा नहीं है तो उससे दंड भरवाया जाता है या फिर चढ़ावा लेकर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है.

क्या पुलिस को स्कुटर पर पुलिस का स्टीकर लगाने की अनुमति है क्या।यह कानून वैध है क्या।

साजिश : डोंबिवली का शास्त्रीनगर अस्पताल अब सिर्फ कामचलाऊ महिला प्रसूति गृह

परंतु यह गाड़ी किसी पुलिस कर्मी की है तो वो ज़िंदगी भर गाड़ी का बीमा कराए बिना चला सकता है। यह दोमुंहापन नियम कब तक चलेगा ईश्वर ही जाने या कोई चमत्कारी आरटीओ अधिकारी आ जाए तभी इसमे सुधार हो सकता है। लेकिन ऐसे कर्मठ अधिकारी कहीं टिकते कहां हैं.

किस साजिश के तहत डोंबिवली पूर्व की मनपा महिला प्रसूति गृह पिछले दस साल से बंद ?

साभार – X REY Report Weekly

One thought on “Kalayan RTO पुलिस की मुहदेखी कारवाई

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *