Mumbai Highcourt का बलात्कार पीड़िता नाबालिग की पहचान उजागर करने वाले वाले वकील पर जुर्माना

मुंबई हाईकोर्ट ने दो वकीलों पर नाबालिग रेप पीड़िता की पहचान उजागर करने पर नाराजगी जताते हुए जुर्माना लगाया है.

मध्य और पश्चिम रेलवे ट्रैक पर गत एक वर्ष मे ढाई हजार यात्रियों की मौत

हाईकोर्ट ने याचिका में पीड़िता की मां की पहचान उजागर करने वाले वकीलों पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगा दिया है.

Jalebi Baba को 120 महिलाओं से बलात्कार करने के आरोप में 14 साल कैद

जस्टिस रेवती मोहिते ढेरे और जस्टिस पृथ्वीराज चव्हाण की पीठ ने कहा कि याचिकाकर्ता के वकीलों ने याचिका में पीड़िता की मां की पहचान उजागर की गई थी.

फिर तारीख ! महाराष्ट्र मे जारी सत्ता संघर्ष मे सर्वोच्च न्यायलाय की फिर नई तारीख !!

याचिका में उनका नाम, उनकी तस्वीर, चैट और ईमेल सलग्न किए गए थे. बता दें कि पॉक्सो कानून के तहत रेप पीड़िताओं की पहचान उजागर करने पर मनाही है.

किस साजिश के तहत डोंबिवली पूर्व की मनपा महिला प्रसूति गृह पिछले दस साल से बंद ?

पीठ ने इस आरोप के दोषी वकील ऋषिकेश मुंदारगी और मनोज कुमार तिवारी पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया और 16 जनवरी तक जुर्माने की राशि का भुगतान कीर्तिकर लॉ लाइब्रेरी को करने का निर्देश दिया.

रेल यात्रियों की शिकायतों को दबाने के लिए ही सक्रिय है रेल मंत्रालय का टि्वटर हैंडल @RailwaySeva

पीठ ने इसके साथ ही याचिका में संशोधन कर पीड़िता की मां का नाम और उनकी जानकारी हटाने को भी कहा है।

2 thoughts on “Mumbai Highcourt का बलात्कार पीड़िता नाबालिग की पहचान उजागर करने वाले वाले वकील पर जुर्माना

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *