FWICE ने मिरा भाईंदर /वसई विरार के पुलिस आयुक्त को पत्र लिखकर शूटिंग स्थल पर अराजक तत्वों की मनमानी रोकने की मांग की

प्रेम चौबे

फेडरेशनऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्लूआइसीई) के प्रेसिडेंट बी .एन. तिवारी, जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे और ट्रेजरार गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव संजू ने मीरा भायंदर तथा वसई विरार के नए पुलिस आयुक्त और उपायुक्त को एक शिकायती पत्र लिखकर उनका ध्यान दिलाया है कि वसई,विरार नायगांव और मीरा भायंदर में शूटिंग के दौरान टेक्नीशियनों और प्रॉडक्शन टीम को कुछ लोकल गुंडे परेशान कर रहे हैं।

ये लोकल गुंडे साफ कहते हैं कि पूरी यूनिट का खाना और शूटिंग के दौरान इस्तेमाल होने वाली क्रेन तथा अन्य उपकरणों ,गाड़ी के अलावा जूनियर आर्टिस्ट आदि की सप्लाई हम करेंगे अगर हमारी बात नहीं मानी तो हम शूटिंग नहीं होने देंगे।

फेडरेशन के पदाधिकारियों ने साफ कहा है, ऐ लोग खाना बढ़िया नहीं देते जिसके कारण ज्यादातर यूनिट के लोग अब खुद अपने घर से खाना लेकर आते हैं।

इन लोकल गुंडों की मनमानी इस कदर बढ़ गयी है कि अब प्रोड्यूसर धीरे-धीरे वसई विरार और मीरा भायंदर की जगह दूसरे लोकेशन पर शूटिंग के लिए जाने लगे हैं।

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉयज (एफडब्लूआइसीई) के पदाधिकारियों के मुताबिक रूपेश किनी, उमेश मुकादम, प्रणव मुकादम,धनेश किनी, परेश किनी और कुछ अन्य लोग  स्थानीय होने की वजह से प्रोडक्शन मैनेजरों  को परेशान करते हैं,और उनसे जबरन फिरौती की रकम वसूली करते हैं।

हाल ही में रूपेश किनी और उनके साथियों द्वारा “डीजे की एक क्रिएटिव यूनिट की शूटिंग स्थल का दौरा किया था, और प्रोडक्शन अधिकारियों को जबरन अपने लोगों को काम पर रखने की धमकी दी थी।”

पत्र में एफडब्लूआइसीई ने लिखा है, कि हमें एसोसिएशन के सदस्यों से शिकायतें मिली हैं। उन्होंने जूनियर आर्टिस्ट सप्लायर मोनू चड्ढा के सहायक फिरोज को भी धमकी दी थी कि फिरोज स्थानीय लोगों को काम पर रखें अन्यथा वे सेट पर आकर शूटिंग बंद कर देंगे।

हमारे एक सदस्य नवीन सिंह, ऑल इंडिया सिने मॉडल कोऑर्डिनेटर्स एसोसिएशन के सदस्य को रूपेश किनी और उसके आदमियों द्वारा धमकाया गया और उनसे पैसे वसूले गए। नवीन सिंह ने उनके खिलाफ वालीव थाने में शिकायती पत्र सौंपा है।

एक अन्य सदस्य दीपक खरात ने भी रुपेश किनी व उसके आदमियों के खिलाफ वालीव थाने में रंगदारी मांगने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज करायी है। मदर नेचर स्टूडियो में कैटरिंग का व्यवसाय करने वाले मयूर शेखर कांबली से 10 दिसंबर 2022 को कुछ स्थानीय लोगों ने रंगदारी की थी, उन्होंने प्राथमिकी भी दर्ज कराई थी।

एफडब्लूआइसीई के पदाधिकारियों ने पुलिस आयुक्त को लिखे पत्र में कहा है कि  इन लोगों के खिलाफ पहले भी कई एफआईआर दर्ज हो चुकी हैं। ये लोग काम के दौरान हमारेलोगों को डराते-धमकाते रहते हैं और उन्हें अपने फूड सप्लायर्स, आर्टिस्ट्स आदि को  लेने के लिए मजबूर करते हैं, जिनके साथ काम करते समय हमारे लोग सहज नहीं होते हैं।

हमारे लोग काम करते समय एक मुक्त वातावरण चाहते हैं और वे अपनी पसंद के श्रमिकों, तकनीशियनों और कलाकारों के साथ स्वतंत्र रूप से और आराम से काम कर सकते हैं ।

फेडरेशन ऑफ वेस्टर्न इंडिया सिने एम्प्लॉइज (एफडब्लूआइसीई) के प्रेसिडेंट बीएन तिवारी,जनरल सेक्रेटरी अशोक दुबे और ट्रेजरार गंगेश्वरलाल श्रीवास्तव संजू ने पत्र में लिखा है कि इतना ही नहीं, इस क्षेत्र में शूटिंग लोकेशन पर काम करने वाले हमारे सदस्यों के साथ देर रात पैकअप के बाद घर जाते समय इन लोगों द्वारा शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार और मारपीट किया जाता है।

हमारे लोग इन आपराधिक दिमाग वाले लोगों द्वारा जानलेवा हमलों के डर और दबाव में काम कर रहे हैं।

एफडब्लूआइसीई के पदाधिकारियों ने पुलिस आयुक्त और उपायुक्त को लिखे पत्र में कहा है कि हम आपसे अनुरोध करते हैं कि कृपया इस क्षेत्र के स्टूडियो और अन्य शूटिंग स्थानों में इन लोगों के प्रवेश पर रोक लगाने की कृपा करें।

शूटिंग स्थलों पर किसी भी प्रकार की दुर्घटना से बचने के लिए कृपया क्षेत्र में केवल स्टूडियो और शूटिंग लोकेशनो में शूटिंग से जुड़े सदस्यों को प्रवेश की ही अनुमति दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *