पुराने विवाद के चलते दो युवकों ने की अपने ही मित्र की हत्या

(स्वदेश मालवीय )

मुरबाड : पुराने विवाद के चलते दो युवकों ने मिलकर अपने ही एक मित्र की धारदार हथियार से हत्या करके दरिया में फेंक दिया. घटना मुरबाड के टोकावडे गांव की है
प्राप्त जानकारी के अनुसार ५ दिन पहले मुरबाड तालुका के टोकावडे पुलिस को मोरबेवाड़ी में एक लाश बरामद हुई थी .लाश परिसर के दरिया में पड़ी थी लाश को बाहर निकालने के बाद प्राथमिक रिपोर्ट में पुलिस ने इसे हत्या का मामला दर्ज कर लिया था. मृतक की जेब में मिले पैन कार्ड के आधार पर उसका नाम गोपीनाथ केसरकर पता चला है गोपीनाथ के सिर पर ७, ८  वार के निशान थे जो किसी धारदार हथियार से किये गए  थे और लाश के पेट में छुरी घुसी हुई अवस्था में पुलिस को मिली .इस मामले में टोकावडे पुलिस ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया. जांच पड़ताल में सहायक पुलिस निरीक्षक धनंजय पोरे ने ,गहराई से जांच करना शुरू किया. मृतक का नाम समझने के बाद पुलिस ने गोपी के घर का पता लगा लिया. गोपीनाथ जो कि अंबरनाथ पूर्व महालक्ष्मी नगर परिषर का निवासी था 5 दिन पहले उसके दोस्तों दोस्त मोहन शोस्ते  और फैजल के साथ गोपीनाथ अपनी ही गाड़ी में बैठकर किसी पार्टी में गए थे. उसके बाद गोपीनाथ वापस नहीं आया. पुलिस को यह जानकारी मिलते ही पुलिस ने मोहन और फैजल का पता लगाना शुरु किया. दोनों का पता निकाला तो पता चला कि मुंबई के घाटकोपर परिसर के निवासी है. जहाँ से दोनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया. उन दोनों से पूछताछ की तो मोहन शोस्ते और मृत गोपीनाथ यह दोनों दोस्त थे .पुराने विवाद को लेकर मोहन मन में गोपीनाथ के खिलाफ नाराजगी रखें हुवे था .जिसका उसने बदला लेने की ठान रखी थी.  आखिर मोहन ने अपने दोस्त फैजल शेख की मदद से गोपीनाथ को उनके फोर व्हीलर गाड़ी से टोकावडे परिसर में ले जाकर उसकी हत्या कर दी .सबुत  नष्ट करने के लिए उसके मृत देह को पास की दरिया में फेंक दिया. घटना के बाद श्री गोपीनाथ की फोर व्हीलर गाड़ी पुलिस को सुराग ना मिलने की वजह से दोनों आरोपी को कोर्ट में पेश कीया गया ,जहां मोहन और फैजल को २७  जनवरी तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश सुनाया गया है.  पुलिस उपअधीक्षक मोरे के नेतृत्व में सहायक पुलिस निरीक्षक धनंजय पोरे आगे की जांच कर रहे है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *